वेब सर्वर क्या होता है? ये कैसे काम करता है

नमस्कार दोस्तो मेरा नाम kuldeep shakya है।आज हम आपको web server क्या होता है और ये कैसे काम करता है।web serverकी पूरी जानकारी बताने वाला हूं आप इस पोस्ट को पूरा read करे।
वेब सर्वर क्या होता है ये कैसे काम करता है

Web server एक तरह का shoftwere होता है।जो लोगो तक किसी website के पेज को पहुँचता है,और उसकी डिज़ाइन को बनाता है।इसको हम दो अलग अलग भागों में कर सकते है।एक ऐसी device जिस पे web server सर्वर active हो, और एक ऐसा softwere जो वेब server की तरह चल रहा हो,इनमे से पहला hardwere और दूसरा softwere होता है।

Hardwere

ये कंप्यूटर का सबसे मैन भाग होता हैं इसी के अंदर computer के डिजिटल सरकिट होते जिससे कंप्यूटर prosses होता है।

Softwere

एक softwere सभी देश और ज़रूरी जानकारी का एक ऐसा तंत्र है जो computer के अंदर और दूसरे सॉफ्टवेयरों को आदेश देकर आपका मनचाहा काम करता है।

ज्यादातर web पेज HTTP की protocall के जरिए, सभी उपयोगकर्ताओ तक पहुचा दिए जाते है। computer के अंदर किसी softwere को इन्सटाल करने के बाद आप उसे internet से जोड़े, उसके बाद आप इसे web पेज देने की जगह web सर्वर में आसानी से बदल सकते है।
अगर आप internel पे कोई भी web पेज देखते है।वे सभी पेज आपके कप्यूटर तक किसी न किसी वेब server के द्रारा ही पहुचते है।अगर आप अपने computer पे केवल सॉफ्टवेयर को ही install करे,और उसे internet से ना जोड़े, ऐसी स्तिथियों में भी यह एक वेब server ही होता है। जो कि प्राइवेट बन जाता है।इसमें सिर्फ आप अकेले ही काम कर सकेंगे।

Web server कैसे काम करता है?


सभी वेब server अपने यूजरों से HTTP निर्देश को प्राप्त करते है। और वो ही निर्देश दुबारा वापस कर दिया जाता है। HTTP एक प्रोटोकॉल की तरह काम करता है,इसका पूरा नाम हाइपर टैक्स ट्रांसफर(HTTP)होता है।
ज्यादातर वेब सर्वर जिन संदेशो को वापस भेजता है।वे संदेश HTML में होते है। इसके साथ साथ वेब सर्वर आपको photos, videos, document भी भेजने में सक्षम होता है। अगर आप कोई चीज मांग रहे है,जो आपके वेब सर्वर में नही है, तो आपको यहां पे एक error दिखाई देगा।जिस प्रकार दोस्तो internet पे ब्लॉग बनाने के लिए वेब hosting और domain जरूरी होंते है।उसी तरह उसकी ही तरह इन्हें internet पर रखने की प्रकिया एचटीटीपी/https होती है।जिसे हम वेब hosting कह सकते है।

Web server Login


सभी वेब सर्वर अपने यूजरों के हिसाब से जानकारी अपने web Login में सुरक्षित रखता है।जिसमे यूजर का IP एड्रेस और यूजर्स के हिसाब से मांगी गई जानकारी होती है।ये सभी वेब मास्टर के लिये बहुत ही लाभदायक होते हैं।किसी भी वेब सर्वर में दो लक्षण पाये जाते है HTTP , https और निम्न विशेषताए पाई जाती है। जिनका उपयोग यूजर अपने हिसाब से कर सकता है।सभी server  का उपयोग एक जैसा नही होता है वो भी अलग हो सकता है।

Web सर्वर की सुरक्षा

सभी वेब सर्वर HTTP या https अक्सर अपने यूजर्स को 80 port मे connect करने की आज्ञा देंते है।लेकिन वेब सर्वर की सुरक्षा के लिए S.S.L.या T.S.L.सपोर्ट लगा होता है।जो कि बहुत ज्यादा sequre होता है।इसके जरिये web सर्वर अपने यूजर्स को 443में connect करता है।इस तरह ये अपनी सुरक्षा खुद करता है।

Web सर्वर सत्यापन

दोस्तो आप web server के दवारा अपने user का verification भी कर सकते हैं।आप अपने यूजर्स से भाषा का आदान प्रदान भी कर सकते है। जिनका आपने पहले ही वेरिफिकेशन कर लिया है,exalample यूजर्स name और password के ज़रिए,सत्यापन हो जाता है।

 वेब सर्वर कम्प्रेशन

अगर कभी कोई यूजर्स आपके वेब सर्वर से कोई ऐसी चीज खोजता है जिसका आकार काफी बड़ा हो तब ऐसी में वेब server आपसे बात करने के बाद उसे छोटा कर देता है और file को आप तक पहुचा देता है।

वर्चुअल होस्टिंग

कई वैब सर्वर वर्चुअल होस्टिंग की सुविधा प्रदान करते हैं। वर्चुअल होस्टिंग एक ऐसी hosting है, जिसमें एक ही IP एड्रेस होता है,और अनेक वेबसाइटों पे चलाया जाता है। मतलव ये है कि एक ip पे के जरिये अनेक wesite चलाई जाती है।
वेब सर्वर क्या होता है ये कैसे काम करता है

ज्यादातर web सर्वर static सामग्री और Dynamic सामग्री दोनों को भेजने में सहायक होते हैं।

static सामग्रीज

स्टैटिक सामग्री वह सामग्री होती है जो पहले से बनी होती है जैसे किसी compny के बारे में जानकारी या दूसरा डॉक्यूमेंट.

Dynamic सामग्रीज

डायनामिक सामग्री एक ऐसी चीज है जो अपने यूजर्स के अनुसार, time के अनुसार हमेशा एक जैसी नही रहती है। जैसे मुझे uttar pradesh की जानकारी पानी है, तो हमे uttar pradesh की knowlage ही मिलेगी।

आज के समय मे वेव सर्वर के अनेक सारे softwere आ गए है जैसे कि Microsoft IIS, Apache, GFE by Google, Netspace आदि प्रमुख है।दोस्तो internet की बहुत सी website इन्हीं वेव server पर चल रही हैं।

Handling

एक या एक से अधिक reletive की जानकारी (SSI, CGI, SCGI, FastCGI, JSP, ColdFusion, PHP, ASP, ASP.NET, Server API जैसे कि – NSAPI, ISAPI, इत्‍यादि) के saport के जरिये static contents तथा dynamic contents की हैंडलिंग कर सकता है ।

Large File Support

32 बिट OS पर 2GB से अधिक बड़ी वाली files को सुचारु रूप से sarv करने में मदद करता है।

Bandwidth throttling

Responce की speed को सीमित करने में मदद करता है। ताकि नेटवर्क saturated न हो और अधिक से अधिक यूजर्स को सर्व करने में सहायक होने के लिए तैयार हो सके।


दोस्तो मैं आपसे उम्मीद करता हूं, कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी वेब सर्वर क्या होता है? पसंद आई होगी, अगर आपको हमारे द्वारा दी जाने वाली knowlage पसंद आ रही है, तो आप इस knowlage को अपने दोस्तों के साथ जरूर share जरूर करते रहे।  ::धन्यवाद::

Previous
Next Post »